UP POLICE TRAINING SYLLABUS PART 2

udtinew1@gmail.com
UP POLICE BHARTI 2023

प्रिय दोस्तों जैसा कि हमने पहले भी बता दिया है किसी भी प्रकार की POLICE TRAINING हो तो उसका एक विशेष प्रकार का पुलिस ट्रेनिंग SHEDULE होता है और उसी के अंतर्गत POLICE विभाग में चयनित हुए अभ्यर्थियों को पुलिस का प्रशिक्षण कराया जाता है, इसमें कुछ विधियों नियमों कानूनों आदि का ज्ञान कराने हेतु कुछ आवश्यक विषयों को सम्मिलित किया गया है

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

UP POLICE TRAINING SYLLABUS CONSTABLE के लिए होने प्रशिक्षण में मुख्यतः 8 विषय सम्मिलित किए गए हैं जिसमें से हम UP POLICE TRAINING SYLLABUS के PART-1 में दो विषयों के SYLLABUS से आप को रूबरू करा चुके हैं उनके विषयों के अलावा बचे हुए SUBJECTS का SYLLABUS निम्न है –

UP POLICE TRAINING SYLLABUS PART-3 – इस लेख में हम तृतीय प्रश्न पत्र की विषय वस्तु व उसमें आने वाले महत्वपूर्ण तथ्यों की जानकारी यहां उपलब्ध करा रहे है –

UP POLICE TRAINING SYLLABUS

UP POLICE TRAINING SYLLABUS
UP POLICE TRAINING SYLLABUS

1 )- सुरक्षा

(A) सामान्य सुरक्षा – सामान्य सुरक्षा परिदृश्य का परिचय, आंतरिक सुरक्षा के लिए चुनौतियां, संदेह जनक वस्तुओं को पहचानना एवं अनुवर्ती कार्यवाही, संतरी एवं गार्ड के कर्तव्य एवं पुलिस थाने वर्क कैंप की सुरक्षा, वाहन की तलाशी, गुजरते हुए वाहनों एवं वस्तुओं का अवलोकन करना, अपराधियों के विरुद्ध दबिश एवं तलाशी के संबंध में बरती जाने वाली सावधानियां संबंधी उपकरण जैसे – बीपी जैकेट, हेडगियर, फायरिंग रेंज इत्यादि।

(B) VIP सुरक्षा – VIP सुरक्षा का महत्व एवं उद्देश्य, विभिन्न प्रकार के हमले व उनसे सुरक्षा, कार्यक्रम स्थल, रास्तों के रुकने के स्थान पर विशिष्ट व्यक्तियों की सुरक्षा के मानक एक्स., वाई. व ज़ेड. सुरक्षा श्रेणियाँ व्यक्तिगत सुरक्षा अधिकारी (PSO ) के कर्तव्य, प्रवेश नियंत्रण, एंटी सबोटाज चेकिंग, सुरक्षा उपकरण जैसे – डीएफएमडी (DFMD ), एएचएमडी (AHMD ) डीप सर्च मेटल डिटेक्टर, इनवर्टर मिरर आदि का कानवाय ड्यूटी, पीएसओ ड्यूट इत्यादि।

(C) महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा – महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा का महत्व एवं उद्देश्य, दुश्मन के तौर-तरीकों का ज्ञान, हवाई अड्डे, वायुयान, रेलवे, औद्योगिक संस्थान तथा सार्वजनिक महत्व के भवन एवं सीमाएं, पोस्ट प्रोडक्शन ड्रिल इत्यादि।

(D) विस्फोटकों का परिचय एवं प्रकार – विस्फोटकों का परिचय एवं प्रकार व उनके लक्षणों की पहचान, डेटोनेटर, इसके प्रकार व पहचान, विस्फोटकों को पहचानने के बाद सावधानियां एवं सुरक्षात्मक कार्यवाही, नियंत्रण यंत्र विन्यास, तार, रिमोट कंट्रोल, टाइमर, दबाव, प्रकाश आदि आत्मघाती हमला/ फिदायीन अटैक इत्यादि।

UP POLICE TRAINING SYLLABUS में लोक व्यवस्था एवं बंदोबस्त बड़ा IMPORTANT है जिसकी जानकारी निम्नांकित है –

2 ) -लोक व्यवस्था एवं बंदोबस्त

(A) लोक व्यवस्था – जन सहभागिता, लोक व्यवस्था निर्माण में आरक्षी की भूमिका एवं उत्तरदायित्व, आतंकवादी, सांप्रदायिक एवं अन्य हिंसा, आतंकवादी घटनाओं में पुलिस का उत्तरदायित्व, सांप्रदायिक दंगों के दौरान पुलिस ड्यूटी, कर्तव्य एवं सावधानियां, हिंसक आंदोलन, लोक जमाव, विधि विरुद्ध जमाव ( राजनीतिक जातिगत विद्यार्थी वर्ग ) आदि के विवादों पर नियंत्रण जाति व समुदाय के विवाद, एवं पुलिस की भूमिका, औद्योगिक एवं मजदूर वर्ग के विवादों के समय पुलिस व्यवस्था ( बंद, हड़ताल, प्रदर्शन ) आदि।

(B) भीड़ नियंत्रण – भीड़ के प्रकार, मनोविज्ञान व व्यवहार, भीड़ नियंत्रण की रणनीति, अभिसूचना संकलन, विधिक उपाय परामर्श एवं मध्यस्थता, विभिन्न प्रकार की भीड़ व पुलिस बर्ताव, विशेष कर उत्तेजित महिलाओं एवं बालकों से बर्ताव इत्यादि।

(C) पुलिस प्रतिक्रिया – शांति व्यवस्था भंग करने वालों के खिलाफ रोकथाम की कार्यवाही, आशंकित खतरे की रोकथाम हेतु धारा 144 दंड प्रक्रिया संहिता की कार्यवाही, हिंसक आंदोलन अथवा जमाव को तितर-बितर करने के समय पुलिस बल का प्रयोग करने के प्रावधान, न्यूनतम बल प्रयोग के सिद्धांत जिसमें पुलिस फायरिंग भी सम्मिलित है, दंगा नियंत्रण योजना का ज्ञान एवं कार्यवाही इत्यादि।

UP POLICE TRAINING SYLLABUS में मेला ड्यूटी, त्योहार ड्यूटी, चुनाव ड्यूटी और आपदा प्रबंधन आदि DUTY बड़ा महत्त्वपूर्ण है जिसकी जानकारी निम्नांकित है –

UP POLICE TRAINING SYLLABUS
UP POLICE TRAINING SYLLABUS

(A) मेला ड्यूटी – मेला क्षेत्रों में आरक्षी नागरिक पुलिस / सशस्त्र पुलिस एवं पीएसी की नियुक्ति-कर्तव्य एवं दायित्व, यातायात घुड़सवार, अग्निशमन पुलिस, संचार, वॉच टावर व पार्किंग आदि की व्यवस्था, अपराधों की रोकथाम हेतु गस्त ड्यूटी एवं अभिसूचना संकलन हेतु विभिन्न स्रोतों का उपयोग, कुंभ मेला 2013 के दौरान भगदड़ की केस स्टडी इत्यादि।

(B) त्योहार ड्यूटी – त्योहारों का प्रबंधक एवं पुलिस की भूमिका, त्योहारों पर आरक्षी नागरिक पुलिस / सशस्त्र पुलिस एवं P.A.C. की नियुक्ति – कर्तव्य एवं आचरण, संवेदनशील स्थानों पर ड्यूटी के दौरान सावधानियां तथा यातायात व्यवस्था करना, शांति भंग करने वालों के विरुद्ध कार्यवाही इत्यादि।

(C) चुनाव ड्यूटी – मतदान ककेंद्रों पर मतदाताओं को शांतिपूर्वक मतदान करने का वातावरण प्रदान करना तथा अपने व्यवहार में निष्पक्षता रखना, बैलट बॉक्स, वोटिंग मशीन व मतदान केंद्र पर नियुक्त अधिकारियों को सुरक्षा प्रदान करना, मतगणना के समय ड्यूटी, चुनाव परिणामों के बाद विजय जुलूस के समय शांति व्यवस्था ड्यूटी इत्यादि।

(D) सामान्य ड्यूटी – पिकेट: पिकेट की आवश्यकता, प्रकार एवं गार्द से भिन्नता, बाजारों में क्रिकेट एवं नाकाबंदी, नाकाबंदी एवं निगरानी इत्यादि।

(4) आपदा प्रबंधन – आपदा प्रबंधन में पुलिस की भूमिका, आपदा प्रबंधन की जिला स्तरीय योजनाएं, आपदा प्रबंधन के समय में अन्य विभागों से संबंध, आपदा प्रबंधन में एनजीओज की भूमिका, बचाव एवं राहत की परिभाषा, प्रकार, उदाहरण, सामान्य तकनीकी, विभिन्न चरण, महत्ता, विभिन्न उपकरण, बाढ़ राहत कार्य में पुलिस एवं पीएसी की भूमिका, अन्य आपदाएं / बड़ी दुर्घटनाएं – विस्फोट, अचानक भवन गिरना, औद्योगिक दुर्घटना, भगदड़ आदि के दौरान कार योजना एवं उत्तरदायित्व, सड़क, रेल एवं हवाई दुर्घटना के समय एवं उत्तरदायित्व, आग की घटनाएं – अग्निशमन एवं बचाव कार्य, गंभीर दुर्घटना / आपदाओं के दौरान घटित होने वाले सामान्य अपराध तथा उसके नियंत्रण हेतु पुलिस कार्यवाही, मॉक ड्रिल आपदा प्रबंधन अधिनियम – 2005, राज्य आपदा मोचन बल (SDRF) इत्यादि।

UP POLICE TRAINING SYLLABUS
UP POLICE TRAINING SYLLABUS

(5) यातायात नियंत्रण – मोटर व्हीकल एक्ट के अंतर्गत दंडनीय अपराध, यातायात पुलिस संगठन एवं कार्य / कर्तव्य, यातायात नियंत्रण की युक्तियां एवं उपकरण एवं उनका प्रयोग, सड़क सुरक्षा, उत्तर प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं के कारण, यातायात चिन्ह एवं संकेत, यातायात उल्लंघन एवं चालान की प्रक्रिया, क्रॉसिंग पर यातायात विनियमित करना, दुर्घटना स्थल पर पहरा देना, विधि साक्षी- जैसे स्किड मार्क्स की सुरक्षा करना और यातायात की दिशा परिवर्तित करना, दुर्घटना पीड़ितों का बचाव, प्राथमिक चिकित्सा देना एवं अस्पताल तक ले जाना, यातायात जाम के समय कर्तव्य, कार्यक्रम स्थल पर पार्किंग व्यवस्था संबंधी ज्ञान, छात्र-छात्राओं को ले जाने वाले वाहनों के संबंध में अपेक्षित जानकारी, संदिग्ध व्यक्तियों / अपराधियों का पीछा करते समय सावधानियां आदि।

(6) पुलिस रेडियो दूरसंचार प्रणाली – पुलिस रेडियो दूरसंचार प्रणाली का परिचय, पुलिस रेडियो दूरसंचार प्रणाली – V.H.F., रिपीटर, U.H.F., संचार प्रणाली, H.F., पोलनेट, रेडियो संदेश बनाना, लिखना, संदेशों का वर्गीकरण एवं इनकी प्राथमिकताएं, वायरलेस सेटों की हैंडलिंग, सामान्य खराबी एवं उनका निराकरण, हैंड हेल्ड, स्टैटिक मोबाइल, वायरलेस सेट पर कार्य करने का व्यवहारिक ज्ञान, सीसीआर डीसीआर की कार्यप्रणाली, कंट्रोल रूम का विस्तृत ज्ञान, कॉलसाइन का परिचय आदि।

Also Read This – SSC CHSL BHARTI 2023 : ONLINE FORM 2023 नोटिफिकेशन जारी अंतिम तिथि 8 जून 2023

(7) गार्ड ड्यूटी, बंदी एस्कॉर्ट, हवालात ड्यूटी – गार्ड एवं एस्कॉर्ट रूल्स, पुलिस स्टेशन ड्यूटी, संतरी ड्यूटी, टेलीफोन ड्यूटी, वायरलेस ड्यूटी, रिसेप्शन ड्यूटी तथा शिकायतों की प्राप्ति, मैसेंजर ड्यूटी, चरित्र सत्यापन रिपोर्ट, जांच तथा सत्यापन के दौरान कथन अंकित करना, कोर्ट सहायक ड्यूटी, पुलिस स्टेशन पर त्वरित कार्यकारी दल, रजिस्टर एवं अभिलेखों का रखरखाव, वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ड्यूटी इत्यादि।

UP Police Training Syllabus

Leave a comment

Please disable your adblocker or whitelist this site!